पैसेंजर की जान आ गई थी मुश्किल में जब 20 किलोमीटर उल्टी दौड़ी ट्रैन

उत्तराखंड के सीमांत टनकपुर खटीमा इलाके में बड़ी रेल दुर्घटना होने से टली है यहां दिल्ली से लौट रही पूर्णागिरि जनशताब्दी एक्सप्रेस अचानक पीछे को दौड़ने लगी ट्रेन के 10 डिब्बे इंजन और ट्रेन में बैठे लगभग 50 -60 यात्रियों को लेकर ट्रेन 20- 22 किलोमीटर पीछे चकरपुर तक पहुंच गई। जिसके बाद रेल विभाग ने बसों के जरिए सवारियों को चकरपुर से फिर से टनकपुर पहुंचाया।दरअसल घटना बुधवार की शाम की है जब दिल्ली से टनकपुर पहुंच रही जनशताब्दी एक्सप्रेस मनिहारगोट के पास पहुंची तो उस वक्त गाय से ट्रेन टकरा कर कट गई इस दौरान ट्रेन के इंजन का प्रेशर डाउन हो गया जिसके बाद एकाएक ट्रेन आगे बढ़ने के बजाय पीछे की ओर स्पीड से दौड़ने लगी ट्रेन में सवार करीब 60 यात्री हस्तप्रद हो गए कि अचानक ट्रेन पीछे दौड़ती देख उन्हें समझ में नहीं आया।इस दौरान ट्रेन के ड्राइवर ने ब्रेक मारने के काफी प्रयास किए लेकिन ट्रेन नहीं रुकी और उसकी स्पीड और भी इसे की ओर बढ़ती चली गई ट्रेन में दो एसी और 8 सामान्य बोगिया थी जिनमें 60 यात्री यात्रा कर रहे थे ट्रेन के आने की बाद पीछे सभी रेलवे क्रॉसिंग गेट खोल दिए गए थे घटनास्थल से लगभग 22 किलोमीटर पीछे नंदना नदी के पास जाकर रुकी। जिसके बाद सवारियों में जान में जान आई मामले में रेलवे के अधिकारियों को जानकारी मिलते ही कई रेलवे अधिकारी मौके पर पहुंचे।

 54 total views

ख़बर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *