माँ गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट खुले , प्रधानमंत्री मोदी के नाम से सबसे पहले पूजा हूई

Advertisement
ख़बर शेयर करें

विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही आज उत्तराखण्ड़ की चारधाम यात्रा का भी आगाज हो गया है। शुभ मुहूर्त में दोपहर 12 बजकर 35 मिनट पर गंगोत्री धाम और 12 बजकर 41 मिनट पर यमुनोत्री धाम के कपाट खोल दिए गए हैं। इस अवसर पर pm नरेंद्र मोदी ने भी अक्षय तृतीया महापर्व की शुभ बेला पर गंगोत्री समिति को 1100 रुपये दान स्वरूप दिए, वहीं धाम में पहली पूजा प्रधानमंत्री मोदी के नाम से हुई।
परंपरा के अनुसार मुखबा गांव से मां गंगा की भोग मूर्ति को डोली यात्रा को शनिवार को ही गंगोत्री धाम के लिए रवाना कर दिया गया था। भैरोंघाटी स्थित प्राचीन भैरव मंदिर में रात्रि विश्राम के बाद उत्सव डोली गंगोत्री धाम पहुंची। उसके बाद पूरे विधि विधान के साथ पूजा अर्चना कर गंगोत्री धाम के कपाट प्रशासन की मौजूदगी में खोल दिए गए।
दूसरी तरफ आज सुबह 8 बजे मां यमुना की डोली सनी देव महाराज की अगुवाई भी अपने शीतकालीन प्रवास खरसाली से यमुनोत्री धाम के लिए रवाना हुई। डोली उत्सव डोली यमुनोत्री पहुंचने के बाद पूरेेे विधि विधान के साथ पूजा अर्चनाा के साथ 12 बज के 41 मिनट पर यमुनोत्री धाम के कपाट खोल दिए गए। कोरोना संक्रमण की आशंका के मद्देनजर लॉकडाउन की पाबंदियों के चलते इस बार केवल 21-21 तीर्थ पुरोहित कपाटोद्घाटन में शामिल हो सके। डोली यात्रा के लिए भी यही प्रावधान किया गया था। डोली यात्रा के दौरान शारीरिक दूरी के नियम का भी पालन किया गया। लॉकडाउन की पाबंदियों के चलते फिलहाल किसी भी श्रद्धालु को धाम में आने की अनुमति नहीं है। परंपराओं के निर्वहन के लिए सीमित संख्या में तीर्थ पुरोहितों को छोड़ कर अन्य किसी को भी धामों में जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है।

Advertisement

 251 total views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *