Advertisement
ख़बर शेयर करें

देहरादून- उत्तराखंड में कोरोनावायरस कोविड-19 तेज गति इसके साथ मैदानी जिलों के अलावा पर्वतीय जिलों में फैल रहा है उससे स्पष्ट है कि आने वाले दिनों में हालात और चिंताजनक हो सकते हैं राज्य में एक्टिव केस की संख्या 7846 पहुंच गई है। पिछले 2 दिनों से रोजाना 1000 से अधिक मामले राज्य में सामने आए हैं। टीकाकरण अभियान और जन जागरूकता के बावजूद तेजी के साथ कोरोना की दूसरी लहर लोगों को अपनी चपेट में ले रही है।स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार राज्य की राजधानी देहरादून में सबसे बुरे हालात हैं यहां रोजाना पांच सौ से अधिक मरीज संक्रमित पाए जा रहे हैं अब तक प्रशासन ने देहरादून में 25 कंटेनमेंट जोन बना दिए गए हैं इन इलाकों में अगले आदेशों तक आवाजाही में पाबंदी लगाई गई है देहरादून जिले में लगे कंटेनमेंट जोन में 19 कंटेनमेंट जोन देहरादून में, जबकि चार कंटेनमेंट जोन विकासनगर में और दो कंटेनमेंट जोन ऋषिकेश में बनाए गए हैं।ठीक इसी तरह कंटेनमेंट जोन की संख्या में दूसरे नंबर पर नैनीताल जिला है जहां 19 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं, जिनमें से अकेले हल्द्वानी में 15 कंटेनमेंट जोन हैं, नैनीताल में दो कंटेनमेंट जोन और रामनगर में एक कंटेनमेंट जोन बनाया गया है जबकि लालकुआं भी एक कंटेनमेंट जोन है।

Advertisement

इसके अलावा टिहरी जिले में नरेंद्र नगर में एक कंटेनमेंट जोन और पौड़ी जिले के श्रीनगर में भी एक कंटेनमेंट जोन बनाया गया।स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक 5 जिलों में 52 इलाके कंटेनमेंट जोन बनाकर पाबंद किए गए हैं सोमवार को 1334 नए मामले के साथ ही राज्य में अब तक कुल आंकड़ा एक लाख 10146 पहुंच गया है जिसमें 1767 लोगों की मौत हो चुकी है 7846 एक्टिव केस हैं और 27109 लोगों की जांच रिपोर्ट अभी आनी बाकी है। ऐसे हालातों में सरकार ने विवाह समारोह में भी केवल 200 लोगों की रहने की अनुमति प्रदान की है हाई कोर्ट को भी अगले 1 हफ्ते तक बंद किया गया है। लोगों को सावधान और सतर्क रहने की आवश्यकता है।

 201 total views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *