राज्यपाल के अभिभाषण का विपक्ष कांग्रेस द्वारा बहिष्‍कार किए जाने को लेकर सत्तापक्ष भाजपा व कांग्रेस आमने-सामने आ गए। कैबिनेट मंत्री और शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने विपक्ष पर आरोप लगाया कि उन्होंने बिना राज्यपाल का अभिभाषण पढ़े सदन से वाकआउट किया। वहीं, उप नेता प्रतिपक्ष करण माहरा ने कहा कि अभिभाषण में बेरोजगारों के लिए कुछ नहीं है। अभिभाषण केवल सरकार की उपलब्धियों का बखान करने वाला है। इसलिए कांग्रेस ने अभिभाषण के दौरान सदन से वाकआउट किया।

सोमवार को ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण में भराड़ीसैंण स्थित विधानसभा भवन में कांग्रेस ने राज्यपाल का अभिभाषण शुरू होते ही इसमें बेरोजगारों के लिए कोई बात न होने का आरोप लगाते हुए सदन से वाकआउट कर दिया। हालांकि, इसके बाद राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने पूरा अभिभाषण पढ़ा। वाकआउट करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए उप नेता प्रतिपक्ष करण माहरा ने कहा कि अभिभाषण से पहले विपक्ष को इसकी प्रति भी नहीं दी गईं। अभिभाषण में केवल सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया गया है। इसमें कहीं भी विकास का रोडमैप नजर नहीं आया। यहां तक कि इसमें बेरोजगारों को रोजगार देने की भी कोई व्यवस्था नहीं की गई है। इसे देखते हुए विपक्ष ने सदन से वाकआउट किया।

वहीं, इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कैबिनेट मंत्री व शासकीय प्रवक्ता मदन कौशिक ने कहा कि विपक्ष ने बिना राज्यपाल का अभिभाषण पढ़े ही सदन से वाकआउट कर दिया। यदि कांग्रेस के विधायक अभिभाषण पूरा सुनते अथवा वे इसे पूरा पढ़ते तो फिर उनकी अंतरात्मा उन्हें ऐसा करने से रोकती। रविवार को सर्वदलीय बैठक में भी कांग्रेस से इस विषय में सहयोग की बात कही थी। कांग्रेस ने आश्वासन दिया था कि वह सदन के भीतर जनहित के मसले ही उठाएगी। उन्होंने बिना पढ़े मुद्दा उठाया, जो गलत है।

 113 total views

ख़बर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *