आज एक अप्रैल से हरिद्वार महाकुंभ अधिकारिक रूप से शुरू हो गया है, श्रद्धालुओं को कोविड-19 की 72 घंटे पहले की निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी

आज यानी एक अप्रैल से हरिद्वार महाकुंभ अधिकारिक रूप से शुरू हो गया है। कुंभ के पहले दिन बड़ी संख्या में भक्त गंगा स्नान के लिए पहुंचे।हरिद्वार में आज से महाकुंभ- 2021 का श्रीगणेश हो गया है। 30 अप्रैल तक चलने वाले महाकुंभ में गंगा स्नान के लिए श्रद्धालुओं को कोविड-19 की 72 घंटे पहले तक की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी।पहले दिन पुलिस द्वारा सभी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। वहीं गुरुवार को कुंभ के पहले दिन मेला अधिकारी दीपक रावत और आईजी कुंभ संजय गुंज्याल ने मां गंगा की पूजा की। इस दौरान उन्होंने कुंभ के सफल संचालन की प्रार्थना की।जांच के लिए 33 टीमें बनाईकुंभ मेला सीएमओ डॉ. एसके झा ने बताया कि बॉर्डर और मेला क्षेत्र में रैंडम सैंपलिंग की जा रही है। अतिसंवेदनशील राज्यों से आने वाले परिवारों के एक-दो सदस्यों के रैंडम सैंपल लिए जाएंगे।

बॉर्डर पर पॉजिटिव आने पर सभी लोगों को लौटा दिया जाएगा। मेला क्षेत्र में पॉजिटिव मिलने वालों को कोविड केयर सेंटरों में आइसोलेट किया जाएगा। जांच के लिए 33 टीमें बनाई हैं। इनमें दस निजी और 23 सरकारी हैं। 10 हजार से अधिक एंटीजन सैंपल रोजाना लिए जाएंगे।कोविड के लिहाज से अतिसंवेदनशील 12 राज्यों से आने वाले यात्रियों की राज्य सीमा पर अनिवार्य रूप से कोरोना जांच की जाएगी। संक्रमण की पुष्टि होने पर यात्री और उसके पूरे समूह को लौटा दिया जाएगा।
शासन ने महाराष्ट्र, केरल, पंजाब, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, गुजरात, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली और राजस्थान से आने वाले यात्रियों को कोविड आरटीपीसीआर रिपोर्ट लाने की सलाह दी है।

 117 total views

ख़बर शेयर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *